बॉलीवुड में फिल्मों की रिलीज़ से पहले, कभी-कभी उनकी सामग्री ने शीर्षक पर हंगामा खड़ा कर दिया। इन दिनों अक्षय कुमार की फिल्म लक्ष्मी बम सुर्खियों में बनी हुई है। कई हिंदू संगठनों ने लक्ष्मी बम के शीर्षक पर आपत्ति जताई है। उन्होंने फिल्म के शीर्षक में बदलाव की मांग की है।

अक्षय कुमार

लक्ष्मी बम पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया जा रहा है। लक्ष्मी के साथ बम लिखते समय फिल्म के शीर्षक ने कई भावनाओं को जगाया। संगठनों ने इसे देवी लक्ष्मी का अपमान कहा है। फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग है। आखिरकार, खुद को विवादों से बचाने के लिए, अक्षय कुमार ने फिल्म का नाम भी बदल दिया है।
हालांकि, इससे पहले, कई फिल्मों के शीर्षक में बदलाव की मांग की गई है। जानिए उनके बारे में

प्यार की रात

सलमान खान द्वारा निर्मित फिल्म लवयात्री के शीर्षक पर भी हंगामा हुआ था। यह आरोप लगाया गया था कि हिंदू त्योहार नवरात्रि का मज़ाक उड़ाया गया है। शीर्षक हिंदुओं की भावनाओं को आहत करता है। बाद में शीर्षक लवरात्रि से लोवत्री में बदल दिया गया। सलमान खान के बहनोई आयुष और अभिनेत्री वरीना हुसैन ने इस फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखा।

रामलीला – गोलियों की रासलीला राम-लीला

संजय लीला भंसाली की फिल्म गोलमाल की रासलीला राम-लीला के शीर्षक पर भी विवाद था। सभी आपत्तियों के बाद दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह स्टारर फिल्म का शीर्षक 3 बार बदलना पड़ा। पहली फिल्म का नाम रामलीला था। क्योंकि रामलीला भगवान राम से जुड़ी है, इसलिए शीर्षक का अनुमान है कि यह एक धार्मिक फिल्म है। बाद में शीर्षक बदलकर राम-लीला कर दिया गया। इसके बाद, शीर्षक को फिल्म की रिलीज़ से ठीक पहले गोलियोन की रासलीला राम-लीला में बदल दिया गया।

पद्मावती-पद्मावत

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का नाम पहले पद्मावती था। लेकिन जब शीर्षक को लेकर बहुत विवाद हुआ, तो निर्माताओं ने इसे पद्मावत में बदल दिया। राजपूत करणी सेना ने इस फिल्म को लेकर काफी हंगामा और विरोध प्रदर्शन किया था।

मेंटल क्या है? न्यायिक क्या है

कंगना रानौत और राजकुमार राव की फिल्म न्यायिक है क्या का नाम मेंटल है क्या। भारतीय मनोरोगी ससोयाति ने शीर्षक पर विरोध किया। यह आरोप लगाया गया था कि मानसिक रूप से बीमार लोगों को उपाधि से अपमानित किया जा रहा है। निर्माताओं ने बाद में काफी दबाव में आने के बाद फिल्म का शीर्षक ज्यूडिशियल है क्या में बदल दिया।

रैंबो राजकुमार- आर राजकुमार

प्रभुदेवा की फिल्म आर राजकुमार में सोनाक्षी सिन्हा और शाहिद कपूर मुख्य भूमिका में थे। पहली फिल्म का नाम रैम्बो राजकुमार था। लेकिन तब हॉलीवुड फिल्म रेम्बो श्रृंखला के निर्माताओं की आपत्तियों और कॉपीराइट विवाद के बाद फिल्म का नाम आर राजकुमार कर दिया गया था। मेकर्स को शाहिद के किरदार का नाम भी बदलना पड़ा।

जाफना-मद्रास कैफे

जॉन अब्राहम और नरगिस फाकरी स्टारर फिल्म मद्रास कैफे का नाम पहले जाफना था। जाफना श्रीलंका की एक जगह का नाम है। इस शीर्षक को लेकर विवाद हुआ था। यह गलत था कि जाफना की गलत छवि पेश की जा रही है। इसलिए निर्माताओं को नाम बदलना पड़ा।

2 COMMENTS

  1. Wood furnishings has one thing extremely natural regarding it.
    There is this feeling of comfort, of attributes as well as of sophistication that may be be discovered in hardwood furniture.
    Hardwood is actually birthed from the earth.

    It feeds the fire, falls to pieces in to ashes as well as blows away.
    It is extremely near the human existence in the world.

    May be actually that is actually why it resonates a great deal with
    our team. When you handle an abundant mahogany workdesk, might be actually that is actually why you still obtain that warm
    and comfortable sensation.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here